पुस्तक पर निबंध

Essay on Book in Hindi

पुस्तक पर निबंध : Essay on Book in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘पुस्तक पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप पुस्तक पर निबंध से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

पुस्तक पर निबंध : Essay on Book in Hindi

प्रस्तावना:-

पुस्तक एक वस्तु होती है, जो मनुष्य को ज्ञान प्रदान करती है। आज हम जो भी ज्ञान प्राप्त करते है, वह हम ज्यादातर पुस्तकों से ही प्राप्त करते है। पुस्तकों का जीवन में होना काफी आवश्यक है।

यें पुस्तकें मनुष्य की सबसे अच्छी मित्र होती है, जो हमें हमारी हर परिस्थिति में सहायता करती है। पुस्तकों में ज्ञान का भंडार होता है। जिसे हम इनकी सहायता से ग्रहण कर सकते है और अपने आगे की पीढ़ियों को भी दे सकते है।

सभी महान लोगों ने अपने जीवन में एकत्रित किये हुए ज्ञान को पुस्तकों में ही लिखा है, जिससे आज हम उस ज्ञान को प्राप्त कर पा रहे है।

पुस्तकें अपना ज्ञान प्रदान करने में कभी भी भेदभाव नहीं करती है। कोई भी व्यक्ति चाहे किसी भी जाति व धर्म का हो, उसे पुस्तकों से ज्ञान लेने का पूरा अधिकार है।

पुस्तकों का महत्व:-

पुस्तकें हमारे जीवन में काफी महत्वपूर्ण स्थान रखती है। बचपन से ही यें पुस्तकें हमें अपना ज्ञान प्रदान करने लगती है। यदि पुस्तकें नहीं हो तो हमारा ज्ञान प्राप्त कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है, क्योंकि पुस्तकों में ही सम्पूर्ण ज्ञान लिखा गया है।

पुस्तकों का महत्व भारत में आज से ही नहीं बल्कि कईं सदियों से रहा है। इन पुस्तकों में ज्ञान का खजाना है, जिसे आप जितना चाहे उतना प्राप्त कर सकते है।

सबसे ज्यादा पुस्तकों का महत्व किसी के जीवन में है, तो वह विद्यार्थी है। विद्यार्थी का जीवन पूरा पुस्तकों में ही होता है। यें पुस्तकें विद्यार्थी को उसके जीवन का लक्ष्य प्रदान करती है और उसे एक महान व्यक्ति बनाने में सहायता करती है।

पुस्तकों का लाभ:-

पुस्तकों से हमें हमेशा फायदा ही होता है, इससे हमें कोई भी नुकसान नहीं होता है। पुस्तकें मनुष्य के लिए काफी लाभकारी होती है। पुस्तकों को पढ़ने से मनुष्य कभी भी अकेलापन महसूस नहीं करता है और न ही वह निराशा का शिकार होता है।

पुस्तकें पढ़ने वाला मनुष्य मानसिक रूप से मजबूत होता है। यह मनुष्य को एक आदर्श एवं महान व्यक्ति बनाने में सहायता करती है।

इन पुस्तकों से हम अपने सम्पूर्ण जीवन को जीने का तरीका सीख सकते है। यें मनुष्य को उसके लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायक होती है और उसे बेहतर इंसान बनाती है।

पुस्तकों के प्रकार:-

वैसे तो पुस्तकें विभिन्न प्रकार की होती है। लेकिन इन्हें इनके आधार पर 2 भागों में बाँटा जाता है, जो कि निम्नलिखित है:-

  • ज्ञानवर्धक पुस्तकें:- वह पुस्तकें जिनमें हमें ज्ञान की प्राप्ति होती है, उन पुस्तकों को ज्ञानवर्धक पुस्तकों की श्रेणी में रखा जाता है। यें पुस्तकें ही मनुष्य को सभी प्रकार की जानकारी उपलब्ध करवाती है। यें पुस्तकें काफी महत्वपूर्ण होती है। इन्हीं से हमें हमारे लक्ष्य की प्राप्ति होती है। ज्ञानवर्धक पुस्तकों में ही महानो लोगों के जीवनभर का ज्ञान होता है।
  • मनोरंजनात्मक पुस्तकें:- वह पुस्तकें जो ज्ञान प्राप्त करने के लिए नहीं बल्कि सिर्फ मनोरंजन के काम ही आती है, उन पुस्तकों को मनोरंजनात्मक पुस्तकों में शामिल किया जाता है। यह पुस्तकें काफी अच्छी होती है, जो हमारे खाली समय में हमारा मनोरंजन करती है, जिससे समय का पता भी नहीं चलता है।

उपसंहार:-

पुस्तकों का साथ हमें कभी भी असफलता व गलत रास्ते पर नहीं ले जाता है, बल्कि यह हमें हमेशा ही सफलता की तरफ ले जाता है। जितने भी धर्म है, उनके ज्ञान भी पुस्तकों में ही रखे गए है।

इन्हीं से ही आने वाली पीढ़ियों को इनके ज्ञान की प्राप्ति होती है। प्राचीनकाल से ही पुस्तकें ज्ञान व आवश्यक जानकारियों को एकत्रित करने का साधन रही है, ताकि आने वाले लोग उस जानकारी को प्राप्त कर सके।

पुस्तकें हमें सिर्फ देना ही जानती है, यह इसके बदले कुछ भी नहीं मांगती है। इसलिए, हमें हमेशा पुस्तकें पढ़ती रहनी चाहिए, क्योंकि एक इंसान हमें धोका दे सकता है, लेकिन यह पुस्तकें हमें सिर्फ ज्ञान ही प्रदान करती है।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *