भारत में लोकतंत्र पर निबंध

Essay on Democracy in India in Hindi

भारत में लोकतंत्र पर निबंध : Essay on Democracy in India in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘भारत में लोकतंत्र पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप भारत में लोकतंत्र पर निबंध से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

भारत में लोकतंत्र पर निबंध : Essay on Democracy in India in Hindi

प्रस्तावना:-

जनता का शासन, जनता द्वारा शासन एवं जनता के लिए शासन ही लोकतंत्र कहलाता है। लोकतंत्र में व्यक्ति को अपनी सरकार का चुनाव करने की स्वतंत्रता प्राप्त होती है।

इसमें प्रत्येक व्यक्ति को स्वतंत्रतापूर्वक अपना जीवन जीने का अधिकार होता है और वह स्वतंत्रता के साथ अपनी आवाज भी उठा सकता है। भारत के एक लोकतान्त्रिक देश है।

यह दुनिया का सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है। यह अपने संविधान के अनुसार ही चलता है और संविधान के अनुसार ही प्रत्येक व्यक्ति को राजनैतिक एवं सामाजिक स्वतंत्रता दी गई है।

प्रत्येक वह व्यक्ति, जिसकी आयु 18 वर्ष से अधिक है, उसे चुनाव में अपना मतदान करने का अधिकार होता है।

लोकतंत्र में जनता का ही शासन होता है। जनता ही अपने में से किसी व्यक्ति को अपना प्रतिनिधि बनाकर आगे भेजती है, जो पूरे देश के फैसले लेता है और देश चलाता है।

लोकतंत्र की आवश्यकता:-

लोकतंत्र का देश में होना अतिआवश्यक है। देश में आर्थिक, राजनैतिक एवं सामाजिक समानता के लिए लोकतंत्र का होना आवश्यक होता है।

लोकतंत्र के होने से गुलामी ख़त्म होती है और प्रत्येक व्यक्ति अपने अधिकार के लिए आवाज उठा सकता है। लोकतंत्र से सत्ता का विकेंद्रीकरण हो जाता है।

जिससे एक व्यक्ति पूरी तरह से किसी देश का राजा नहीं बन पाता है। उसे भी निर्णय लेने के लिए कईं लोगों की सहमति की आवश्यकता होती है।

लोकतंत्र में लोग अपना मतदान कर अपनी पसंद के प्रतिनिधि को चुनकर आगे भेजते है। जिससे वह व्यक्ति जनता की तरफ से बोल सके और उनका प्रतिनिधित्व कर सके। जनता के पास शासन को देने के लिए ही लोकतंत्र को लाया गया है।

लोकतंत्र के महत्व:-

लोकतंत्र किसी भी देश में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। जिस देश में लोकतंत्र होता है, उस देश की जनता अपनी मर्जी से सरकार का चुनाव करती है। जनता ही फैसला करती है कि उनका प्रतिनिधित्व कौन करेगा?

जिस देश में लोकतंत्र होता है, वहाँ के लोगों को स्वतंत्रता से अपने फैसले लेने और समानता के साथ रहने का अधिकार होता है। यदि जनता चुने हुए प्रतिनिधि से खुश नहीं है, तो वह कभी भी उस व्यक्ति को सरकार से हटा सकते है।

यदि जनता को ऐसा लगता है कि सरकार द्वारा कोई गलत फैसला लिया गया है, तो जनता को पूरा अधिकार है कि वह उस निर्णय के खिलाफ विरोध प्रकट कर सकती है। लोकतंत्र में जनता ही जनार्धन होती है।

लोकतंत्र का उद्देश्य:-

लोकतंत्र का मुख्य उद्देश्य राजतंत्र को ख़त्म करना अर्थात किसी एक परिवार के हाथ में से सत्ता को हटाकर जनता के हाथों में देना है। लोकतंत्र के आने से राजतंत्र ख़त्म हो जाता है।

पहले जब राजाओं का शासन चलता था, तो वें अपने अनुसार ही प्रत्येक फैसले लिया करते थे और उनके अनुसार ही नियम बनते थे।

उनकी पीढियां ही उस राज्य पर शासन करती थी। इसमें जनता को कोई भी अधिकार नहीं दिए जाते थे।

इस परम्परा को ख़त्म करने के लिए ही लोकतंत्र लाया गया। जिससे कि जनता के साथ कोई अत्याचार न हो सके और वह अपना शासक स्वयं चुन सके।

इसका मुख्य उद्देश्य ही परिवारवाद को जड़ से ख़त्म करना है ताकि, सम्पूर्ण शक्तियां केंद्रित न होकर उसका विकेन्द्रीकरण हो सके। इससे एक ही व्यक्ति सभी फैसले न ले सके।

उपसंहार:-

लोकतंत्र में लोगों का ही शासन चलता है। भारत एक लोकतान्त्रिक देश है, जहाँ पर जनता ही मतदान कर सरकार का चुनाव करती है।

देश में सही प्रतिनिधि चुनने के लिए जनता का शिक्षित और जागरूक होना अतिआवश्यक है। तभी वह सही सरकार चुन पाएगी और देश का विकास भी कर पाएगी।

लोकतंत्र प्रत्येक व्यक्ति को कईं अधिकार प्रदान करता है। जिससे व्यक्ति समाज में अपने अनुसार अपना जीवनयापन कर सकता है।

इससे उसकी बातों को सुनकर महत्व दिया जाता है और वह अपनी किसी बात को बिना किसी झिझक के दुनिया के सामने रख सकता है।

यदि उसे किसी बात से समस्या है, तो वह उसके खिलाफ अपनी आवाज उठा सकता है और किसी भी बात पर अपनी राय दे सकता है।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.