पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती पर निबंध

Essay on Money Can't Buy Happiness in Hindi

पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती पर निबंध : Essay on Money Can’t Buy Happiness in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती पर निबंध से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती पर निबंध : Essay on Money Can’t Buy Happiness in Hindi

प्रस्तावना:-

मनुष्य के जीवन मे ख़ुशी और गम दोनों आते है। मनुष्य एक भावात्मक प्राणी है। मनुष्य अपने सभी कार्य ख़ुशी प्राप्ति के लिए तथा गम को दूर करने के लिए करता है। वह सुबह जल्दी उठकर देर रात तक कार्य करता है।

यह प्रकिया वह पूरे महीने करता है ताकि, उसके पास महीने के अंत मे पैसे आ सके जिससे वह खुशियाँ खरीद सके। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि मनुष्य को खुशियाँ चाहिए।

ख़ुशी क्यों आवश्यक है?

मनुष्य के लिए ख़ुशी बहुत आवश्यक है। ख़ुशी के बिना मनुष्य का जीवन बहुत कठिन हो जाता है। खुशियाँ ही मनुष्य को जीवन जीने की प्रेरणा देती है।

जब मनुष्य खुश होता है तब उसके दिमाग मे कुछ हार्मोन्स स्रावित है, जो उसे अच्छा महसूस करवाते है। दिमाग हर बार वही आनंद चाहता है। इसलिए, मनुष्य हर समय खुशियों के पीछे भागता रहता है।

पैसे से ख़ुशी नहीं ख़रीदी जा सकती:-

हम सभी जानते है कि मनुष्य के लिए ख़ुशी कितनी अधिक आवश्यक है? वर्तमान समय में मनुष्य यह सोचता है कि अधिक पैसे से अधिक ख़ुशी खरीदी जा सकती है।

आप सभी ने लॉटरी या ऐसे कईं खेलों का नाम तो सुना ही होगा जिससे कोई भी व्यक्ति रातों-रात अमीर बन जाता है।

क्या उसे जीतने वाला व्यक्ति खुश रहता है? विभिन्न प्रकार की शोधों में पता चला है कि उसे जीतने वाला व्यक्ति कम खुश होता है जबकि, जो हारता है वह ज्यादा खुश रहता है।

इससे काफी हद तक यह साबित होता है कि पैसे से खुशियाँ नही खरीदी जा सकती। पैसे से सिर्फ जरूरत की वस्तुएँ खरीदी जा सकती है। लेकिन, वह वस्तु आपको खुशियाँ दें सके, इसकी कोई ज़िम्मेदारी नही है।

पैसे जरूरी है:-

पैसे से ख़ुशी नहीं ख़रीदी जा सकती, इस बात से कईं बार लोगों को गलत संदेश जाता है। लोग यह समझ लेते है कि पैसे क्यों कमाए? पैसे एक मनुष्य के जीवन के लिए बहुत आवश्यक है।

उसे अपनी जरूरी आवशकता को पूरा करने के लिए पैसे की जरूरत होती है। पैसे के बिना उसका जीवन जीना बहुत मुश्किल हो जाएगा।

इस बात का यह अर्थ है कि हमे सबसे पहले यह जान लेना चाहिए कि हमारे जीवन मे पैसे की क्या अहमियत है?

मनुष्य को इस बात को समझना होगा कि उसे पैसे के पीछे कब भागना है और कब नहीं? यदि, मनुष्य इस बात को समझ ले तो उसके जीवन के आधे कष्ट तो आसानी से खत्म हो जायेंगे।

लाभ:-

यदि आप इस लोकोक्ति को समझ गए तो आपका जीवन सफल हो जाएगा। यदि आप यह समझ जाए कि पैसे कितने जरूरी है? तो आप व्यर्थ पैसे के पीछे नहीं जायेंगे।

आप पैसे पाने के लिए कभी भी गलत रास्ते का सहारा नही लेंगे। आप अपने परिवार के साथ अधिक समय बिता पाएंगे। आप अपने रिश्तों को अधिक समय दे पाएंगे व आप अपने मनपसंद कार्यों को कर पाएंगे।

उपसंहार:-

मनुष्य सोचता है कि पैसे से ही खुशियाँ खरीदी जा सकती है। लेकिन, वह यह नही समझता कि उसके आधे दुख की जड़ तो सिर्फ पैसा ही होता है।

यदि, वह यह समझ ले तो उसके आधे दुख तो वैसे ही खत्म हो जायेंगे और शेष दुख परिवार व मित्रों के साथ मिलकर खत्म हो सकते है।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *