धन पर निबंध

Essay on Money in Hindi

धन पर निबंध : Essay on Money in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘धन पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप धन पर निबंध से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

धन पर निबंध : Essay on Money in Hindi

प्रस्तावना:-

इस समाज को सुचारू रूप से चलाने के लिए धन की आवश्यकता होती है। वर्तमान समय में धन एक आधारभूत आवश्यता है।

आज जिस व्यक्ति के पास पैसा है, वह समाज में सम्मानित जीवन व्यतीत कर सकता है। धन एक व्यक्ति की जरूरत है, जिसके बिना वर्तमान समय मे जीवन व्यतीत करना बहुत कठिन है।

धन इस समाज को सुचारू रूप से चलाने के लिए बहुत आवश्यक है। वर्तमान समय मे हमारी दैनिक जरूरतों या मूलभूत आवश्यकताओं जैसे:- रोटी, कपड़ा व मकान को प्राप्त करने के लिए धन बहुत अधिक आवश्यक है।

धन का महत्व:-

वर्तमान समय में दुनिया पूर्ण रूप से एक-दूसरे पर निर्भर है। एक देश अपना माल दूसरे देश को बेचता है। सभी देश एक-दूसरे से कुछ न कुछ वस्तुएँ खरीदते है।

एक देश के पास कभी भी इतने साधन नही होते है कि अपनी सभी आवश्यकताओं को अपने देश में ही पूरा कर सके या कहे कि एक व्यक्ति अपने घर में ही सभी सामान बना ले।

कुछ न कुछ सामान तो दूसरे से लेना ही होगा। उसके बदले आप उसे क्या देंगे? प्राचीन समय में लोग सामान खरीदने के लिए वस्तुओं का प्रयोग करते थे।

वस्तु के बदले वस्तु का आदान-प्रदान हुआ करता था। लेकिन इसमें कईं बार व्यक्ति को उचित मूल्य नही मिल पाता था। इसके उपाय के तौर पर धन का विकास हुआ।

धन के रूप:-

वर्तमान युग में जहाँ प्रत्येक व्यक्ति धन कमाने की दौड़ में लगा हुआ है। धन के बहुत अधिक रूप हो गए है। इसे पूंजी के नाम से भी जाना जाता है।

आज धन पैसे के रूप में, डिजिटल मनी, शेयर, पालिसी, तथा के मुद्रा जैसे अनगिनत रूपों में मौजूद है। एक व्यक्ति अपना सम्पूर्ण धन बैंकों में रखता है।

एक देश का धन उसका फॉरेन रिजर्व होता है। एक देश अपने देश में होने वाले व्यापार व लोगों पर टैक्स लगाकर अपने रिजर्व को बढ़ाता है।

धन के लाभ:-

एक व्यक्ति के जीवन में धन के बहुत अधिक लाभ है। धन के बिना आज मनुष्य का जीवन संभव नही है। धन व्यक्ति को भविष्य की सुरक्षा प्रदान करता है।

व्यक्ति को सभी आवश्यक संसाधन प्राप्त करने के लिए धन की आवश्यकता होती है। धन व्यक्ति को बहुत अधिक मजबूती प्रदान करता है।

धन एक देश को आंतरिक व बाहरी दोनों ही तौर पर सुरक्षा प्रदान करता है। धन से एक देश बाहरी तौर से सुरक्षित रहता है क्योंकि, धन के द्वारा वह देश सभी आधुनिक हथियार खरीद सकता है।

धन के धारा एक देश अपने लोगों को रोजगार व शिक्षा प्रदान कर सकता है, इससे देश की आंतरिक सुरक्षा भी हो सकती है।

धन के नुकसान:-

धन अधिक होने से व्यक्ति के स्वभाव में परिवर्तन आ जाता है। व्यक्ति के अधिक दुश्मन हो जाते है। धन को प्राप्त करने की दौड़ में व्यक्ति हमेशा भागता रहता है, लेकिन कभी भी उस दौड़ से खुद को बाहर नही निकाल पाता है।

जिससे कईं बार वह अपने परिवार व अपने करीबी लोगों से दूर हो जाता है। इसके साथ-साथ उसको कईं बीमारियाँ भी घेर लेती है। कईं बार व्यक्ति तनाव का शिकार भी हो जाता है।

उपसंहार:-

वर्तमान समय में धन के बिना कुछ भी सम्भव नही है। धन एक व्यक्ति के लिए बहुत आवश्यक है लेकिन, धन व्यक्ति को बर्बाद भी कर सकता है।

अधिक धन कमाने की लालसा में व्यक्ति कईं बार गलत काम भी कर देता है, इसलिए एक व्यक्ति को सबसे पहले धन की आवश्यकता को समझना होगा।

जिसके आधार पर ही व्यक्ति धन का उपयोग सही तरीके से कर पाएगा। जब तक व्यक्ति धन की आवश्यकता के अनुसार कार्य नही करेगा, तब तक वह इसके पीछे भागता रहेगा।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.