पेड़ बचाओ पर निबंध

Essay on Save Trees in Hindi

पेड़ बचाओ पर निबंध : Essay on Save Trees in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘पेड़ बचाओ पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप पेड़ बचाओ पर निबंध से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

पेड़ बचाओ पर निबंध : Essay on Save Trees in Hindi

प्रस्तावना:-

पेड़ इस प्रकृति का एक महत्वपूर्ण अंग है। यें सभी जीवों को जीवन प्रदान करते है। ये सभी पेड़-पौधे ही हमें पोषण प्रदान करते है।

पेड़ हमेशा ही मनुष्य की आवश्यक की पूर्ति करता है। पेड़-पौधे इस प्रकृति में संतुलन बनाने का काम करते है। इन्हीं से सभी जीव-जन्तुओं को पोषण प्राप्त होता है।

पेड़-पौधे वातावरण की कार्बन-डाइ-ऑक्साइड ग्रहण करके हमें ऑक्सीजन प्रदान करते है। जिससे इस पर्यावरण में ऑक्सीजन और कार्बन-डाइ-ऑक्साइड का संतुलन बना रहता है।

पेड़ों से होने वाले फायदे:-

पेड़ हमारे लिए ही नही अपितु इस पूरी प्रकृति के लिए आवश्यक है। हमें पेड़ों से विभिन्न प्रकार के फायदे होते है। जो कि निम्नलिखित है:-

  • पेड़ हमें जीवित रहने के लिए आवश्यक वस्तुएँ प्रदान करते है।
  • हमें पेड़ों से शुद्ध हवा और पानी प्राप्त होता है। पेड़ हमारे पर्यावरण को शुद्ध बनाए रखने के लिए अति आवश्यक होते है।
  • पेड़-पौधे मिट्टी में होने वाले कटाव को रोकते है और मिट्टी को उपजाऊ बनाये रखने का काम करते है।
  • पेड़-पौधे हमें जीवनयापन के लिए भोजन प्रदान करते है। इन्हीं से हमें सब्जियां और फल प्राप्त होते है।
  • आज हम सभी अपने घरों में जिन फर्नीचरों का उपयोग करते है, वें सभी हमें इन पेड़-पौधों से ही प्राप्त होते है।
  • पेड़-पौधों के कारण ही वर्षा होती है। जहाँ पेड़-पौधे ज्यादा होते है, वहाँ वर्षा भी अधिक होती है। वहीं जहाँ पेड़-पौधे कम होते है, वहाँ वर्षा भी कम ही होती है।
  • पेड़-पौधे हमारे इस पर्यावरण में होने वाले प्रदूषण को कम करते है और इस पर्यावरण को रहने लायक बनाते है।
  • पेड़-पौधे कईं लोगों के लिए रोजगार का साधन होते है। जिनसे वह अपना जीवनयापन करते है।
  • पेड़-पौधे हमारी आवश्यकता की पूर्ति करने के साथ-साथ इस प्रकृति की सुंदरता भी बढ़ाते है।
  • पेड़ हमें गर्मियों में छाया और ठंडी हवा प्रदान करते है।

पेड़ों को काटने से नुकसान:-

  • वर्तमान समय मे पेड़ जिस गति से काटे जा रहे है, यदि उतनी ही गति से काटते रहे तो हमें इसके भयानक परिणाम भुगतने पड़ सकते है।
  • पेड़-पौधों के कटने से इस पर्यावरण में जीवन का संतुलन खराब हो जाता है। पेड़ों को काटने से प्रदूषण बढ़ता है। जो वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण और भूमि प्रदूषण के रूप में होता है।
  • पेड़ों को काटने से वर्षा का संतुलन भी खराब हो जाता है और इसके साथ-साथ इस पर्यावरण का संतुलन भी खराब होता है।
  • पेड़ों को काटने से प्रकृति में आपदाएं बढ़ रही है। जैसे:- भूकम्प, बाढ़, सूखा और भूस्खलन आदि।
  • पेड़-पौधों को काटने से पृथ्वी का तापमान भी बदलता है।
  • पेड़ों को काटने से आज जंगल बर्बाद हो रहे है, जिससे वहाँ रहने वाले जीव-जंतु बेघर हो गए है। अब वह शहरों की तरफ आ रहे है। पक्षियों के घोसले बर्बाद हो चुके है।

उपसंहार:-

हमें इन सभी पेड़-पौधों की रक्षा करनी चाहिए। इन्हें काटना नहीं चाहिए। यदि पेड़-पौधे नहीं रहे तो इस संसार में हमारा जीवन भी संभव नहीं है।

इसीलिए हमें आज से ही पेड़ों को काटना बंद करना होगा या फिर कम से कम काटने होंगे। इससे ही हमारी प्रकृति का संतुलन बना रहेगा।

यें पेड़-पौधे हम सभी के लिए मूल्यवान है। हमें हमेशा ही इसकी कद्र करनी चाहिए।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

1.7/5 - (45 votes)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.