वसंत ऋतु पर निबंध

Essay on Spring Season in Hindi

वसंत ऋतु पर निबंध : Essay on Spring Season in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘वसंत ऋतु पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप वसंत ऋतु पर निबंध से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

वसंत ऋतु पर निबंध : Essay on Spring Season in Hindi

प्रस्तावना:-

छह ऋतुओं में से ही एक वसंत ऋतु है। यह भारत में फरवरी व मार्च के माह में आती है। इस ऋतु में वातावरण बहुत मनमोहक हो जाता है।

यह ऋतु सर्दी व गर्मी के बीच की ऋतु है अर्थात इस ऋतु में न तो ज्यादा गर्मी होती है और न ही ज्यादा सर्दी। इस समय तापमान सामान्य ही रहता है।

यह ऋतु शरद ऋतु के बाद आती है। इस ऋतु में पेड़ों पर नईं पत्तियां आती है। इसी समय बसंत पंचमी का त्यौहार मनाया जाता है।

इस समय पीले रंग की वस्तुओं पर कीड़े लगते है। बसंत ऋतु को सभी ऋतुओं का राजा भी कहा जाता है।

वसंत ऋतु आने व जाने का समय:-

अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार वसंत ऋतु मार्च व अप्रैल माह में आती है जबकि, हिंदी पंचांग के अनुसार वसंत ऋतु चैत्र से वैशाख तक रहती है।

वसंत ऋतु में होने वाली फसलें:-

इस समय पीले फूल व पीली फसलें ज्यादा उगती है। इस समय नए-नए फूल उगते है। बसंत ऋतु में सूरजमुखी, गेंदा, सनी, अरहर, सरसों, आदि फसलें उगाई जाती है।

इस समय खेत पीले रंग से भरे रहते है। इस समय की फसलें ज्यादा सर्दी और ज्यादा गर्मी नहीं सह पाती है।

वसंत ऋतु के फायदें:-

  • इस ऋतु में मौसम सामान्य रहता है। इस समय न तो गर्मी रहती है और न ही सर्दी।
  • इस समय पेड़-पौधों में नईं-नईं पत्तियां उगती है।
  • इस समय मौसम बड़ा ही सुहावना रहता है।
  • इस समय मनुष्य का स्वास्थ अच्छा रहता है और मस्तिस्क भी सही प्रकार से संचालित होता है।
  • वसंत ऋतु में फूल व पीली फसलें उगती है और इस समय मधुमक्खियाँ व तितलियाँ फूलों पर मंडराती रहती है।
  • इस समय प्रकृति सुंदर व आकर्षित रहती है।
  • यह मौसम किसानों के लिए काफी अच्छा होता है। इस समय फसलें लहराती रहती है।
  • इस समय वातावरण के तापमान में संतुलन बना रहता है।
  • इस समय मनुष्य चुस्त व फुर्तीला रहता है। इस समय मनुष्य आलस्य से दूर रहता है।

वसंत ऋतु के नुकसान:-

  • इस समय पीले फूलों के कारण मच्छर घूमते रहते है।
  • यह ऋतु सर्दी और गर्मी के बीच में आने के कारण इस समय बीमार होने का खतरा बना रहता है क्योंकि, इस समय मौसम बदलता रहता है।
  • इस समय प्रकृति में बदलाव होने के कारण सर्दी, जुखाम, चेचक और खसरा जैसी बीमारियों का खतरा रहता है।

उपसंहार:-

वसन्त ऋतु सभी ऋतुओं का राजा है। इस समय प्रकृति काफी सुंदर हो जाती है। इस ऋतु में ही बसंत पंचमी व होली मनाई जाती है।

इस समय हर तरफ चिड़ियाँ चहचहाती रहती है। मधुमक्खियाँ और तितलियाँ फूलो पर मंडराती रहती है।

यह ऋतु ग्रीष्म ऋतु और शरद ऋतु के मध्य में आती है। जिससे यह मौसम काफी अच्छा रहता है। यह ऋतु प्रकृति को एक नया जीवन प्रदान करती है।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.