शिक्षा के महत्व पर भाषण

Importance of Education Speech in Hindi

शिक्षा के महत्व पर भाषण : Importance of Education Speech in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘शिक्षा के महत्व पर भाषण’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप शिक्षा के महत्व पर भाषण से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

शिक्षा के महत्व पर भाषण : Importance of Education Speech in Hindi

सुप्रभात, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, माननीय शिक्षकगण एवं मेरे प्यारे साथियों, आप सभी को मेरा प्यारभरा नमस्कार।

मेरा नाम —– है और मैं इस विद्यालय में 11वीं कक्षा का विद्यार्थी हूँ। आज मैं इस शुभ अवसर पर आप सभी के सामने एक छोटा सा भाषण प्रस्तुत करने जा रहा हूँ, जिसका विषय है:- शिक्षा का महत्व।

यह एक काफी महत्वपूर्ण विषय है। सर्वप्रथम मैं आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूँ कि आप सभी ने मुझे इस मंच पर अपने विचार व्यक्त करने का अवसर प्रदान किया।

आज मैं शिक्षा के मूल्य पर दो शब्द कहना चाहता हूँ। आशा करता हूँ कि आपको यह पसंद आएगा।

वर्तमान समय में शिक्षा का मूल्य शायद ही किसी को पता न हो। मनुष्य आदिकाल से ही शिक्षा के मूल्य को समझता है। शिक्षा का अर्थ होता है सीखना और सिखाना।

शिक्षा शब्द को शिक्ष् धातु से लिया गया है और इसका अर्थ होता है:- सिखने व सिखाने की प्रक्रिया।

शिक्षा का मुख्य अर्थ होता है:- किसी भी समाज में लगातार चलने वाली वह प्रक्रिया, जिसके द्वारा मनुष्य अपने ज्ञान और कौशल का विकास करता है, जिससे उसके व्यवहार और आचरण में सुधार आता है।

शिक्षा एक मनुष्य के जीवन में अंधकार को हटाकर ज्ञान का प्रकाश लाती है, जिससे मनुष्य का विकास होता है। जिससे फलस्वरूप उसे सभ्य व योग्य नागरिक बनने में मदद मिलती है।

शिक्षा का मूल्य समझने के लिए हमें सबसे पहले यह जान लेना चाहिए कि शिक्षित न होने के क्या-क्या दुष्परिणाम हो सकते है?

किसी भी समाज में यदि अशिक्षा रहेगी तो उसमे कुरुतियां लगातार बढ़ती रहेगी। समाज में रूढ़िवादी सोच का विकास होगा। अशिक्षा समाज को कभी भी सही दिशा में नहीं बढ़ने देगा।

अशिक्षा से रोजगार के अवसर लगातार कम होंगे। अशिक्षा से कोई भी देश तरक्की नहीं कर पाएगा और लगातर पिछड़ता जाएगा।

लोगों को अपने अधिकार पता नहीं होंगे और कोई भी उन्हें गलत बात बताकर गलत काम करने के लिए तैयार कर सकता है। जैसा अक्सर आप आतंकवाद को देखते होंगे।

यदि अब हम बात करें कि शिक्षा से क्या-क्या लाभ होंगे? तो इसके लिए हमें यह जान लेना चाहिए कि शिक्षा से मनुष्य में क्या-क्या परिवर्तन आते है?

जैसे कि मनुष्य को बेहतर जीवनयापन करने का तरीका सिखने को मिलता है। शिक्षा से मनुष्य में बौद्धिक, शाररिक व मानसिक विकास होता है।

इससे मनुष्य को सही फैसले लेने में मदद मिलती है। इन्हीं फैसलों की बदौलत इंसान सही दिशा में विकास कर पाता है। जिससे समाज भी सही दिशा में अग्रसर होता है।

एक शिक्षित मनुष्य सिर्फ स्वयं का ही विकास नहीं करता है अपितु, वह अपने साथ-साथ पूरे समाज व देश का विकास भी करता है।

वह नए-नए तरीकों से नए अविष्कार कर इस दुनिया को देता है। जिससे आगे चलकर ये पूरी दुनिया के काम आते है।

शिक्षित मनुष्य में अशिक्षित मनुष्य के मुकाबले काम को सही तरीके से व सही समय पर पूरा करने की क़ाबलियत होती है।

वर्तमान समय में जितनी किताबी शिक्षा की आवश्यकता है, उतनी ही प्रायोगिक शिक्षा की भी आवश्यक है। इससे बच्चों को चीज़ें समझने में आसानी मिलेगी।

जिससे वह उस काम को सही तरीके से कर सकेंगे। अतः शिक्षा हमारे जीवन के विकास के लिए बहुत ही जरुरी होती है। वर्तमान समय में इसके बिना मनुष्य जीवन नामुमकिन लगता है।

इतना कहकर मैं अपने भाषण को समाप्त करने जा रहा हूँ। आशा करता हूँ कि आपको मेरा यह भाषण पसंद आया होगा।

धन्यवाद!

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *