वरिष्ठ सहपाठियों के लिए विदाई भाषण

Seniors Farewell Speech in Hindi

वरिष्ठ सहपाठियों के लिए विदाई भाषण : Seniors Farewell Speech in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘वरिष्ठ सहपाठियों के लिए विदाई भाषण’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप वरिष्ठ सहपाठियों के लिए विदाई भाषण से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

वरिष्ठ सहपाठियों के लिए विदाई भाषण : Farewell Speech For Seniors in Hindi

आदरणीय प्रधानाचार्य, अध्यापक तथा अध्यापिका एवं मेरे साथियों, मेरा नाम —- है और मैं —- कक्षा —- का विद्यार्थी हूँ।

जैसा आप सभी जानते है कि आज हम सभी अपने सीनियर्स (वरिष्ठों) की विदाई के लिए एकत्रित हुए है।

हम सभी जूनियर्स (कनिष्ठों) की तरफ से मैं अपने सीनियर्स की विदाई समारोह मे उनके लिए दो शब्द कहना चाहता हूँ।

इस विदाई समारोह मे शामिल होने के लिए मैं आप सभी का तहे दिल से धन्यवाद करना चाहता हूँ। यह मेरे लिए बड़े गौरव की बात है कि मुझे यह भाषण देने का अवसर मिला है।

हम सभी जानते है कि हमारे सीनियर्स अब इस विद्यालय या कॉलेज से अपनी शिक्षा को पूरी कर चुके है। अब उन्हें यहाँ से निकलकर अपने जीवन मे सफलता प्राप्त करनी है।

जब हम इस विद्यालय व कॉलेज मे आये थे, तब हमें ऐसा महसूस हुआ कि सीनियर्स हमारी रैगिंग करेंगे। जैसा कि हमने सीनियर्स के बारे मे सुना था।

लेकिन जब से हम यहाँ आये है, तब से हमे ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिला। सभी सीनियर्स ने हमें परिवार जैसा वातावरण दिया।

आपने हमारी हर समय सहायता करने की कोशिश की। कॉलेज मे हमें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता था। जैसे कि नोट्स तथा अध्ययन सामग्री इत्यादि।

लेकिन हमारे सीनियर्स ने हमारी हर समय सहायता की। जब भी हमें किसी चीज की आवश्यकता होती थी, तो हम उनके पास बिना किसी झिझक के चले जाते थे और वह हमारी हमेशा सहायता करते थे।

हमारे सीनियर्स ने हमें हमेशा पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित किया। हमने अभी तक के अपने कॉलेज के जीवन मे आपसे काफी बातें सीखी है।

आपने हमेशा अपना ज्ञान व अनुभव हमारे साथ साझा किया। आपके साथ रहकर हमें कभी भी अपने परिवार की कमी महसूस नहीं हुई।

आपने हमेशा हमें हमारे कर्तव्यों का ज्ञान कराया। आपने हमें हमेशा कठिन परिस्थितियों मे खड़े रहकर उनका सामना करना सिखाया।

आपके साथ रहकर हमने कई नई-नई बातें सीखी है। हमने आपके साथ मिलकर कई कार्यक्रम एवं समारोह का आयोजन किया और उनका आनंद भी लिया।

आप सभी ने हमेशा हमें अपने छोटे भाई-बहनों की तरह समझा। जब हमसे गलती हुई तो आपने हमें उसे सही करने के लिए प्रोत्साहित किया।

हमने आपसे बहुत कुछ सीखा है जैसे कि अपने अध्यापको की इज्जत कैसे की जाती है? कैसे अपने से बड़ों की इज्जत की जाती है?

अपने से जूनियर से किस तरह बात करनी चाहिए? किस तरह से उनकी मदद की जानी चाहिए?

जब भी हम असफल होते थे, तो हमें समझा कर कि इस समस्या से कैसे बाहर निकला जाये? कैसे सफल बना जायें? हमें सिखाया।

आज जब आप हम सबको छोड़कर जा रहे है, तो हमें इस बात का बड़ा ही दुःख है कि हमें आप सभी को विदा करना होगा।

लेकिन हमें साथ साथ ख़ुशी भी है कि आप अपने जीवन एवं करियर मे आगे बढ़ रहे है।

हम सभी भगवान से यही प्रार्थना करेंगे कि आपको अपने करियर मे सफलता प्राप्त हो और आप अपने जीवन मे नई उंचाइयां प्राप्त करे।

हम सभी जूनियर्स आप सीनियर्स के प्यार, देखभाल, सहयोग एवं प्रोत्साहन के लिए हमेशा आपके आभारी रहेंगे।

आप सभी ने हमें बड़े भाई और बहन जैसा प्यार और देखभाल की है। जिसके लिए हम सभी आपके सदैव कृतज्ञ रहेंगे।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.