फैशन पर भाषण

Speech on Fashion in Hindi

फैशन पर भाषण : Speech on Fashion in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘फैशन पर भाषण’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप फैशन पर भाषण से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

फैशन पर भाषण : Speech on Fashion in Hindi

सुप्रभात, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, माननीय शिक्षकगण एवं मेरे प्यारे साथियों, आप सभी को मेरा प्यारभरा नमस्कार।

मेरा नाम —— है और मैं इस विद्यालय में 11वीं कक्षा का विद्यार्थी हूँ। आज मैं इस शुभ अवसर पर आप सभी के सामने एक छोटा सा भाषण प्रस्तुत करने जा रहा हूँ, जिसका विषय है:- फैशन।

यह एक काफी महत्वपूर्ण विषय है। सर्वप्रथम, मैं आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूँ कि आप सभी ने मुझे इस मंच पर अपने विचार व्यक्त करने का अवसर प्रदान किया।

आज मैं फैशन पर दो शब्द कहना चाहता हूँ। आशा करता हूँ कि आपको यह पसंद आएगा।

सत्तारूढ़ प्रवृत्तियों या खुद की इच्छा से अपने स्वयं के कपड़े, सामान व कपड़ों को पहनने के तरीकों के चुनाव को ही फैशन कहा जाता है। वर्तमान समय में फैशन शब्द सभी को अपनी और आकर्षित करता है।

क्योंकि, इस सोशल मीडिया के ज़माने में सभी इंसान सुंदर व सुशोभित दिखना चाहते है और हमेशा फैशन के साथ चलते रहना चाहते है ताकि, लोग उन्हें पसंद करें।

जिससे वें सोशल मीडिया में तस्वीरों के माध्यम से सभी को दिखा सके। फैशन सिर्फ कपड़ों से नहीं होता है।

इसमें इसके साथ-साथ कईं अन्य वस्तुओं को जोड़ा जा सकता है, जो हमारे शरीर को और अधिक आकर्षित बनाती है।

जैसा आजकल आप सभी देखते होंगे कि लोग अलग-अलग तरीके के जूते, चश्में, टोपी व अलग-अलग तरीके व डिजाइन के कपड़े पहनते है, जिससे वें अलग दिखाई दे।

वर्तमान समय में लोगों का फैशन के प्रति इस आकर्षण ने इस क्षेत्र में कईं रोजगार उत्पन्न कर दिए है। आज आप सभी देखते होंगे कि कपड़ों का बाज़ार कितना अधिक विशाल है।

इसके साथ-साथ पिछले कुछ समय से सौन्दर्यता उत्पाद का बाज़ार भी लगातार बढ़ रहा है। सौन्दर्यता उत्पाद का काम चेहरे को सुंदर बनाना होता है।

इसके साथ-साथ वर्तमान समय में खुशबु के लिए इत्र का भी उपयोग लगातार हो रहा है। फैशन आज से ही नहीं बल्कि आदिकाल से ही लगातार चला आ रहा है।

फैशन मुख्यतः क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति मौसम, वहाँ के रहन-सहन व कईं मामलों में राजकीय तंत्र पर भी निर्भर करता है।

प्राचीन समय में लोग बिना कपड़ों के घूमा करते थे। जैसे-जैसे मनुष्य का विकास हुआ, वैसे-वैसे उसके फैशन का विकास भी होता रहा है।

धीरे-धीरे इंसान ने अपना तन ढकने के लिए वस्त्र बनाना शुरू कर दिया। उसके पश्चात इन कपड़ों में समय-समय पर बदलाव होते रहे, जिससे फैशन लगातार बदलता रहा।

आज के समय में कोई भी फैशन बहुत जल्द ही प्रसिद्ध हो जाता है। आज मुख्य रूप से बड़ी-बड़ी कम्पनियाँ फैशन को निर्धारित करती है।

जैसे वो आपको दिखाएगी, वैसे-वैसे सभी लोग उस फैशन को अपनाने लगते है। इसके लिए ये सभी बड़े-बड़े अभिनेता व अभिनेत्री इसके साथ खिलाड़ी की सहायता लेते है।

इसके लिए विज्ञापन भी बहुत अधिक मात्रा में किए जाते है। वर्तमान समय में बड़ी-बड़ी कम्पनियाँ कईं बड़े-बड़े फैशन शोज का आयोजन करती है।

जिसमें वें अपने कपड़ों व सौन्दर्यता उत्पादों का प्रचार-प्रसार करती है। इतना कहकर मैं अपने भाषण को समाप्त करने जा रहा हूँ और आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरा यह भाषण पसंद आया होगा।

धन्यवाद!

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.