विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के महत्व पर भाषण

Speech on Value of Discipline in Student Life in Hindi

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के महत्व पर भाषण : Speech on Value of Discipline in Student Life in Hindi:-

आज के इस लेख में हमनें ‘विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के महत्व पर भाषण’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के महत्व पर भाषण से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के महत्व पर भाषण : Speech on Value of Discipline in Student Life in Hindi

सुप्रभात, आदरणीय प्रधानचार्य जी, माननीय शिक्षकगण और मेरे प्यारे साथियों, आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार। मेरा नाम ——– है और मैं इस विद्यालय में 12वीं कक्षा का विद्यार्थी हूँ।

आज मैं आप सभी के सामने छोटा सा भाषण प्रस्तुत करने के लिए आया हूँ। आशा करता हूँ कि आपको मेरा यह भाषण पसंद आएगा।

सर्वप्रथम मैं आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूँ कि आप सभी ने मुझे इस मंच पर अपने विचार व्यक्त करने का अवसर प्रदान किया। आज मैं विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के महत्व पर दो शब्द कहने जा रहा हूँ।

अपने जीवन को नियमों के अनुसार जीना ही अनुशासन कहलाता है। हमारे जीवन में अनुशासन का काफी अधिक महत्व होता है।

अनुशासन एक व्यक्ति को सफलता की तरफ सीढ़ी तक लेकर जाता है। अनुशासन एक व्यक्ति को सही जीवन जीने का तरीका सिखाता है।

एक विद्यार्थी जीवन अनुशासन के बिना अधूरा होता है। अनुशासन से विद्यार्थी अपने जीवन को सफल बनाता है। अनुशासन एक विद्यार्थी के जीवन में नींव मजबूत करता है।

जिस प्रकार एक मजबूत नींव पर ही मजबूत मकान बनता है। ठीक, उसी प्रकार अनुशासन से भी जीवन मजबूत बनता है।

एक विद्यार्थी का समय पर विधालय जाना, अपने गृहकार्य को समय पर पूरा करना, ईमानदारी से अपनी पढ़ाई करना और विधालय की गणवेश में जाना ही अनुशासन है।

अनुशासन से एक विद्यार्थी अच्छे अंक प्राप्त करता है। अनुशासन एक विद्यार्थी को अच्छा चरित्र प्रदान करता है।
यह हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है। जिसका हर मनुष्य के जीवन में होना अतिआवश्यक है।

अनुशासन से एक विद्यार्थी कभी भी गलत राह पर नहीं जाता है। इसका पालन करने से हमेशा विद्यार्थी कुछ न कुछ सीखता रहता है।

एक अनुशासित विद्यार्थी सभी का प्रिय होता है। सभी उसकी बातों को महत्व देते है और उसका सम्मान भी करते है। अनुशासन एक व्यक्ति को समाज में सम्मान प्रदान कराता है।

जिन विद्यार्थियों में अनुशासन नहीं होता है, वह सफलता भी प्राप्त नहीं कर पाते है। अनुशासन एक व्यक्ति को अच्छे कार्य करने के लिए प्रेरित करता है और कार्य के प्रति उसकी एकाग्रता बढ़ाता है।

अनुशासन में रहने से एक व्यक्ति देश का आदर्श नागरिक बनता है। एक अनुशासित व्यक्ति ही अपने विकास के साथ-साथ अपने देश का विकास करने में भी योगदान देता है।

विद्यार्थियों के जीवन में अनुशासन के महत्व को हम अनदेखा नहीं कर सकते है। हमें बच्चों को अनुशासन का महत्व समझाना चाहिए।

हमें उन्हें अनुशासन में रहना सिखाना चाहिए। इससे वह गलत रास्ते पर नहीं जायेंगे और हमेशा ही सफलता की तरफ बढ़ते रहेंगे।

इतना कहकर मैं अपने भाषण को समाप्त करता हूँ और आशा करता हूँ कि आपको मेरा यह भाषण पसंद आया होगा।

धन्यवाद!

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

4.2/5 - (18 votes)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *