स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण

Swachh Bharat Abhiyan Speech in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण : Swachh Bharat Abhiyan Speech in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण : Swachh Bharat Abhiyan Speech in Hindi

भाषण 1

नमस्कार, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, माननीय शिक्षकगण एवं मेरे सभी साथियों को मेरा प्यारभरा नमस्कार। मेरा नाम —- है और मैं इस विद्यालय की कक्षा —- में पढ़ता हूँ।

आज मैं आप सभी के सामने स्वच्छ भारत अभियान के बारे में दो शब्द कहने जा रहा हूँ। हम सभी भारत देश के निवासी है और हमें इस पर बहुत गर्व है।

जब हम अपने घर में रहते है तो हमें अपने घर में साफ़-सफाई चाहिए। लेकिन, जब हम बाहर निकलते है, तो हम सफाई का बिल्कुल भी ध्यान नहीं रखते है।

जब हमारें घर में मेहमान आते है, तो हम पूरे घर को साफ़ रखते है। लेकिन, जब देश में कोई आता है, तो हम इन बातों का बिल्कुल ध्यान नहीं रखते है।

इसके साथ-साथ गन्दगी बढ़ने से बीमारियां भी बढ़ रही है। मानव संसाधन जैसे:- हवा और पानी भी अब दूषित हो गए है।

स्वच्छता की जरूरत केवल हमारें घर, ऑफिस या दुकानों को ही नहीं है। बल्कि, हमारे पूरे देश को है। जैसा कि आप सभी जानते है कि महात्मा गाँधी ने उस समय स्वच्छ भारत का स्वपन देखा था।

उन्होंने भारत को स्वच्छ बनाने के लिए कईं प्रयास भी किये थे। लेकिन, उस समय लोगों ने इसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई।

उस समय गाँधी जी का भारत को स्वच्छ बनाने का सपना तो सिर्फ सपना बनकर ही रह गया था। एक बार महात्मा गाँधी ने अपने भाषण में कहा था कि ‘स्वछता स्वतंत्रता से अधिक महत्वपूर्ण है’।

स्वतंत्रता प्राप्ति के कईं वर्षों के बाद सन 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को स्वच्छ बनाने के लिए एक अभियान चलाया। जिसमें पूरे भारत को स्वच्छ बनाने का लक्ष्य रखा गया।

इस योजना का शुभारम्भ 2 अक्टूबर 2014 को गाँधी जयंती के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

भारत सरकार ने इस योजना को सफल बनाने के लिए काफ़ी अधिक धनराशि खर्च की है और अभी भी लगातार कर रही है।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य है कि भारत का प्रत्येक गांव, शहर और गलियारा स्वच्छ हो।

स्वच्छ भारत योजना में कईं कार्य आते है। जैसे:- प्रत्येक घर में शौचालय का निर्माण, सड़कें साफ होना और कहीं भी कचरा जमा नहीं होना।

प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत राजघाट और नई दिल्ली में स्वयं सफाई करके आधिकारिक तौर पर की।

इसमें सरकारी कर्मचारी और विद्यालय एवं कॉलेज के विद्यार्थियों ने भाग लिया था। यह आज तक का सबसे बड़ा अभियान है। जिसमें कईं लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे है।

अगर हमारें आस-पास गंदगी रहती है, तो इससे प्रदूषण होता है। इससे हवा प्रदूषण एवं जल प्रदूषण होता है। जिससे कईं तरह की बीमारियाँ होती है। जैसे:- चेचक, डेंगू, मलेरिया, हैजा आदि।

इसलिए स्वच्छ भारत अभियान अतिआवश्यक है। इससे हम सभी कईं तरह की बीमारियों से भी बच सकते है। भारत देश को साफ-सुथरा रखना हमारा कर्तव्य है।

आज सरकार इस देश को साफ-सुथरा बनाने के लिए कईं प्रयास कर रही है। जिनमें से ही एक स्वच्छ भारत अभियान है। सरकार अकेले इस कार्य को पूरा नहीं कर सकती है।

इसके लिए सरकार को हमारी सहायता की आवश्यकता है। हमें सिर्फ इतना करना है कि कचरे को हर जगह नहीं फेंकना है, उसे सिर्फ कूड़ेदान में ही डालना है।

आपका यह छोटा सा कदम हमारें देश को स्वच्छ बनाने में एक कदम और आगे बढ़ा देगा। अब मैं अपने इस भाषण को इस कथन के साथ विराम देने जा रहा हूँ।

सफाई से खुद को स्वच्छ बनाना है,
स्वच्छता से पूरे विश्व में अपनी पहचान बनाना है।

भाषण 2

सुप्रभात, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, मेरे साथी अध्यापकगण एवं प्यारे बच्चों, आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार।

मेरा नाम —— है और मैं इस विद्यालय में एक अध्यापक हूँ। सबसे पहले मैं आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूँ कि आप सभी ने मुझे इस मंच पर अपने विचार व्यक्त करने का अवसर प्रदान दिया।

स्वच्छ्ता मनुष्य की एक बहुत बड़ी आवश्यकताओं में से एक है। आज हम सभी अपने घर को तो पूरी तरह स्वच्छ रखना चाहते है लेकिन, घर से बाहर निकलते ही हम जहाँ चाहे वहाँ कचरा फेंक देते है।

हम खुद ही इतने लापरवाह है तो हम अपनी आने वाली पीढी को क्या शिक्षा देंगे?

आज इस भाषण के द्वारा मैं आप सभी के सामने एक ऐसी योजना के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसके माध्यम से भारत को स्वच्छ बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

इस योजना को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पहली बार सन 2014 में शुरू किया गया था। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के प्रत्येक शहर तथा गाँव को स्वच्छ बनाना है।

इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा सम्पूर्ण भारत को स्वच्छ बनाने का प्रयास किया जाएगा। इस योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री द्वारा स्वयं झाड़ू लगाकर किया गया था।

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में इस योजना से भविष्य में होने वाले फायदे की बात की है और इसकी जरूरत क्यों है? इसके बारे में विस्तार से बताया है।

इस योजना के अंतर्गत देश के सभी सार्वजनिक स्थानों को साफ किया जाएगा। गांव व शहर के प्रत्येक घर तक कचरे को इकट्ठा करने का वाहन पहुँचाया जाएगा।

इस योजना के फायदे समय के साथ देखने को मिल रहे है। आज भारत के इंदौर जैसे जिले भी विश्व की सबसे साफ जगहों में शामिल हो गए है।

हम सभी आशा करते है कि एक न एक दिन भारत भी विश्व के सबसे साफ देशों में से एक होगा।

इतना कहकर मै अपने भाषण को समाप्त करता हूँ और आप सभी से भी आशा करता हूँ कि आप भी देश को साफ बनाने में अपना बहुमूल्य योगदान देंगे।

धन्यवाद!

भाषण 3

शुप्रभात, प्रधानाचार्य जी, माननीय शिक्षकगण एवं मेरे प्यारे साथियों, आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार। मेरा नाम —- है। मै इस विद्यालय में 12वीं कक्षा का छात्र हूँ।

आज मैं आप सभी के सामने एक छोटा सा भाषण प्रस्तुत करने के लिए उपस्थित हुआ हूँ औरा आशा करता हूँ कि आपको मेरा यह भाषण पसंद आएगा।

भारत में स्वच्छता को बढ़ाने के लिए व सभी को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए एक योजना का शुभारंभ किया गया।

इस योजना को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गाँधी जयंती के मौके पर सन 2014 में शुरू किया गया।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य सन 2019 में महात्मा गाँधी की 150वी जयंती तक भारत को पूर्ण रूप से स्वच्छ बनाना था।

2 अक्टूबर 2014 से स्वच्छ भारत अभियान को पूरे भारत मे एक राष्ट्रीय क्रांति के रूप में शुरू किया। इस योजना को शुरू करते समय प्रधानमंत्री ने कहा था कि यह गाँधी जी को एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

गाँधी जी ने स्वच्छता के बारे में कहा था कि “एक देश के लिए आजादी इतनी जरूरी नही जितनी उस देश की स्वच्छता है”।

इस योजना के अंतर्गत स्वच्छ भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए कार्य किया जाएगा। यह योजना सरकार द्वारा चलाई जाने वाली सबसे महत्वपूर्ण व जरूरी योजनाओं में से एक है।

इसकी शुरुआत के अवसर पर इंडिया गेट पर एक प्रतिज्ञा समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह की अगुवाई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा की गई।

इस समारोह में देश के 50 लाख सरकारी कर्मचारियों ने हिस्सा लिया और इसे सफल बनाने के लिए प्रतिज्ञा ली।

इसके पश्चात राजपथ पर एक पद यात्रा का आयोजन किया गया। जिसे प्रधानमंत्री द्वारा हरि झंडी दी गई। उन्होंने इस पद यात्रा में स्वयं हिस्सा भी लिया।

इसके साथ ही उन्होंने पूरे देश को आव्हान करते हुए कहा कि महात्मा गाँधी जी के स्वच्छ व स्वस्थ भारत के सपने को साकार करने के लिए सरकार काम कर रही है।

उन्होंने स्वयं झाड़ू लगाकर इस योजना की शुरुआत की और कहा कि लोगों को न तो स्वयं गंदगी फैलानी चाहिए और न ही किसी दूसरे को फैलाने देनी चाहिए।

उन्होंने इस अवसर पर पूरे देश को एक मंत्र दिया “न गंदगी करेंगे, न करने देंगे”।

उन्होंने इस सफाई को जनआंदोलन बनाने के लिए 9 लोगों को आंदोलन में शामिल होने को कहा और उन लोगों से अन्य 9 लोगों को इस आंदोलन में शामिल होने के लिए प्रेरित करने को कहा।

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य यह भी है कि लोग इसे अपने उत्तरदायित्व की तरह ले। जो काफी हद तक सफल होती दिखाई दे रही है।

उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत वाराणसी में गंगा नदी के निकट 80 घाटों पर स्वयं फावड़ा चलाया।

उनके इस काम की पूरे देश मे तारीफ हुई व बहुत से लोगों ने इसमें जमकर हिस्सा भी लिया। आशा है कि यह स्वच्छ भारत का सपना बहुत जल्द साकार हो जाएगा।

इतना कहकर मैं अपने भाषण को समाप्त करता हूँ और आशा करता हूँ कि आपको मेरा यह भाषण पसंद आया होगा।

धन्यवाद!

भाषण 4

सुप्रभात, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, सभी अध्यापकगण एवं मेरे प्यारे साथियों, आप सभी को मेरा प्यारभरा नमस्कार। मेरा नाम —— है और मैं इस विश्वविद्यालय में BCA अंतिम वर्ष का विद्यार्थी हूँ।

सबसे पहले मैं आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूँ कि आप सभी ने मुझे इस मंच पर अपने विचार व्यक्त करने का अवसर प्रदान दिया।

स्वच्छ भारत अभियान भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक पहल है, जो भारत देश को पूरी तरह से स्वच्छ और सुन्दर बनाने के लिए एक सराहनीय प्रयास है।

उन्होंने इसकी शुरुआत इंडिया गेट पर स्वच्छता की शपथ लेकर की थी। जहाँ पूरे देश से करीब 30 लाख सरकारी कर्मचारी उनका साथ देने के लिए इस समारोह में उनके साथ उपस्थित हुए थे।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्घाटन 2 अक्टूबर 2014 को राजघाट में नई दिल्ली में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किया गया था।

इस अभियान में बहुत से बॉलीवुड फ़िल्मी सितारे भी जुड़े और अपना समर्थन देकर इसे लोकप्रिय और सफल अभियान बनाने में अपना पूर्ण योगदान दिया।

आज पूरे भारत को इस अभियान के तहत एक स्वच्छ और हरा-भरा देश बनाने के लिए हर थोड़ी दूरी पर एक कूड़ेदान की व्यवस्था की गई है, जिससे लोगों को खुले में कहीं कचरा फेंकने की आवश्यकता नहीं है।

साथ ही साथ हर दिन शहरों में घरों से कचरा इकठ्ठा करने के लिए वाहनों का प्रबंध भी सरकार ने किया है।

इसके साथ ही पूरे देश मे गाँव में हर घर मे शौचालय बनाए जाएंगे। घरों से निकलने वाले पानी के निकास की उचित व्यवस्था की जाएगी।

स्वच्छ भारत अभियान देश का सबसे बड़ा स्वच्छता अभियान के रूप में उभरकर सामने आया है।

इतना कहकर मैं अपने भाषण को समाप्त करता हूँ और आशा करता हूँ कि आपको मेरा यह भाषण पसंद आया होगा।

धन्यवाद!

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

5/5 - (1 vote)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.